2006

अध्यक्ष, गुजरात चेस एसोसिएशन

Amit Shah's Introduction
  • अमित भाई की सोंच है कि शारीरिक व्यायाम के साथ-साथ मानसिक व्यायाम भी सम्पूर्ण व्यक्तित्व के विकास के लिये आवश्यक है। इसी विचार को आगे बढ़ाने के लिये उन्होंने अहमदाबाद के प्राथमिक विद्यालयों में शतरंज को प्रयोग के तौर पर शामिल करवाया। इस प्रयोग के बाद किये गये एक अध्ययन से पता लगा कि शतरंज के अभ्यास से बच्चों का मानसिक स्तर सामान्य से अधिक गति से विकसित हुआ। तदोपरान्त तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र भाई मोदी के सुझाव पर शतरंज को प्रदेश स्तर पर सरकारी स्कूलों के अभ्यासक्रम में सम्मिलित कर लिया गया।
  • आपके कार्यकाल के दौरान गुजरात में पहली बार शतरंज की राष्ट्रीय प्रतियोगिता ’’नेशनल बी’’ आयोजित हुई।
  • इसी दौरान अहमदाबाद में एक शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें 20,000 खिलाडि़यों ने एक साथ भाग लेकर मैक्सिको में 18000 की भागीदारी वाली “साइमल चेस प्रतियोगिता’’ के विश्व कीर्तिमान को तोड़ कर “गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड्स” में गुजरात का नाम दर्ज कराया। उल्लेखनीय है कि ऐसी ही एक प्रतियोगिता में एक साथ 4000 महिला खिलाडि़यों की हिस्सेदारी करवा कर गुजरात चेस एसोसिएशन को “लिमका बुक आफ रिकार्ड्स’’ में भी शामिल होने का गौरव मिला।
  • अमित भाई के कार्यकाल में गुजरात में कई शतरंज खिलाडि़यों ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश और देश का नाम रोशन किया। जिनमें प्रमुख खिलाड़ी ‘तेजस बाकरे’ और ‘अंकित राजपरा’ ग्राण्ड मास्टर और सुश्री ‘ध्यानी दबे’ अंतरराष्ट्रीय महिला मास्टर बनी।